शतरंज के खिलाड़ी में सामंतवाद और रीतिकालीन साहित्य के अवसान का आभास

किसी ऐतिहासिक पृष्ठभूमि पर आधारित कहानी को गहराई से समझने के लिए, उसके देशकाल, वातावरण, और उद्देश्य से अवगत होना आवश्यक है।

Read more

स्मरण प्रेमचंद- 17 संगोष्ठी, आगरा: पत्रकारिता की विरासत और प्रेमचंद

  ​ प्रेमचंद की जयंती के उपलक्ष में उनकी जन्म वर्षगांठ 31 जुलाई को आरम्भ हुए एक माह तक चलने

Read more