रांगेय राघव का रिपोर्ताज ‘तूफानों के बीच’- बंगाल के अकाल का एक संवेदनशील वर्णन

रांगेय राघव का लिखा रिपोर्ताज तूफानों के बीच  हिन्दी साहित्य की एक अमूल्य कृति है जिसको उन्होंने चार भागों में

Read more

फिल्मों के विदाई के गीतों में महिलाओं की असहायता का महिमामंडन

एक लड़की के विवाह से ही ‘विदा’ शब्द जुड़ा होता है क्योंकि उसके जीवन में अपने घर से जिस तरह

Read more

एक सड़क-दुर्घटना का समाजशास्त्र

सात दिसम्बर 2017 की रात एक दुर्घटना ने मेरे जीवन में अनेक नये अनुभव जोड़ दिए। रोज की तरह जिम

Read more

ऐतिहासिक पर्यटन के प्रति हमारा नज़रिया कैसा हो : मैसूर महल पर विशेष

मैसूर महल, मैसूर   ऐतिहासिक इमारतें हमारे समाज के साझा जीवन और स्मृति में मील के पत्थर के समान होती हैं। वे

Read more

हिंसा और वीभत्सता से ओत-प्रोत आधुनिक पौराणिक उपन्यास

  (लेखिका परिचय- अमिता चतुर्वेदी ने हिन्दी साहित्य में एम. फिल. की उपाधि प्राप्त की है। यह लेख मूलत: उनके ब्लॉग ‘अपना परिचय ‘ पर

Read more