हिन्दी धारावाहिकों पर आलोचनात्मक पत्रकारिता का अभाव

दोपहर के एक या दो बजे के समय अगर आप कोई भी जाना-माना हिन्दी समाचार चैनल (एक दो को छोड़कर)

Read more

ताज महोत्सव का आगरा के सामाजिक-सांस्कृतिक परिदृश्य के लिए महत्व

अगर आप आगरा शहर के पुराने बाशिंदे हैं और यदि आप इस शहर की सबसे पुराने और स्थापित सामाजिक-सांस्कृतिक परंपराओं में

Read more

पीपुल्स लाइब्रेरिया- मात्र पुस्तकालय नहीं पर एक बौद्धिक-सांस्कृतिक 'स्पेस'

 साभार: पीपुल्स लाइब्रेरिया   आगरा शहर में लगातार शुरु हो रहे नए बौद्धिक और सांस्कृतिक गतिविधियों और प्रयोगों में एक

Read more

रेख़्ता (उर्दू बोली) को समेट कर पेश कर रही एक अद्भुत साइट- रेख़्ता

पिछले ही कुछ दिनों में फेसबुक पर जाते हीबीच–बीच मेंउर्दू की कुछ बेहतरीनशायरी, गज़लें देखने को मिलजाती थीं। फिर कुछ

Read more