Film Appreciation Club (New)

Films have always been one of those topics over which people bond and engage with each other quite easily. We can watch it together and yet make our own individual observations and interpretations about it. This Sunday a few of us met over ‘Shatranj Ke Khiladi’ by Satyajit Ray and talked about cinema, society, history, literature and culture. We tried to understand how we perceive history and how cinema tries to present it based on our understanding and perceptions. Got to appreciate one of the most well known directors in the world- Satyajit Ray and his film Shatranj ke Khilari from perspectives of politics, society and art. The second screening was the second in series of literature and cinema. Hope to continue this club in the future with more people joining us.

फिल्में हमेशा से उन विषयों में से रहीं हैं जिन पर लोग आपस में बातें कर जुड़ सकते हैं। हम फिल्मों को एक साथ देख कर भी अपने अपने नज़रिए से उनके बारे में खुद के अनुभव और विचार बना सकते हैं। इस रविवार हम कुछ लोग सत्यजीत राय की ‘शतरंज के खिलाड़ी’ देखने के लिए इकट्ठे हुए और सिनेमा, समाज, इतिहास, साहित्य और संस्कृति के बारे में बातें की। हमने समझने की कोशिश की कि कैसे हम इतिहास को देखते हैं और हमारे नज़रिए पर आधारित कैसे सिनेमा इतिहास को हमारे सामने पेश करने का प्रयास करती है। विश्व के सबसे जाने माने निर्देशकों में से एक सत्यजीत राय और उनकी फिल्म को बेहतर तरीके से राजनीति, समाज और कला के दृष्टिकोंण से समझ पाने का अवसर मिला। यह दूसरी स्क्रीनिंग साहित्य और सिनेमा की श्रंखला में दूसरी फिल्म थी। आशा है कि आगे भी यह क्लब चलता रहेगा और, और लोग भी हमारे साथ जुड़ेंगे।

 
From Previous Screenings
Thus completed our first screening of Opinion Tandoor Film Appreciation club. To watch a classic comedy like Angoor is never tiring but to watch it with some people who have never seen it is even more refreshing as you get to enjoy it again whilst they are enjoying it the first time and remarkably laugh at all those places yet again where they laugh. Discussed about Comedies, Middle Class Cinema, 80s Cinema Gulzar’s direction, Cinematic Techniques, Mis-en-scene and Shakespeare among many other things. Couldn’t have had a better beginning to the club. Hope to see those who missed joining us this time around, next time. Will take forward one of the many threads that we picked up today and weave our own film club stories.
और ऐसे पूरा हुआ फ़िल्म क्लब का हमारा पहला अध्याय। ‘अंगूर’ जैसी सदाबहार कॉमेडी को देखना वैसे ही एक मज़ेदार अनुभव होता है पर ऐसे लोगों के साथ इस फिल्म को देखना और भी खास हो जाता है जिन्होंने यह फिल्म कभी ना देखी हो खासकर तब जब आप देखते हैं कि आप उन्हीं पलों पर ठहाके लगा रहे हैं जहाँ इस फिल्म को पहली बार देखने वाले दर्शक हँस रहे हैं। हमने गुलज़ार की बातें की, मध्यम वर्गीय सिनेमा की, सिनेमा की तकनीक की, कॉमेडी की और शेक्सपियर की भी। क्लब की इससे अच्छी शुरुआत नहीं हो सकती थी शायद। आशा है जो इस बार नहीं आ पाए वो अगली बार हमारे साथ जुड़ेंगे। आज कई धागों के सिरे उठाए उन्हीं में से कोई एक सिरा फिर आगे उठाएँगे और अपने फिल्म क्लब की और कहानियाँ बुनेंगे।
फिल्म क्लब की पिछली स्क्रीनिंग से निकले विचार-विमर्श पर आधारित ‘साहित्य, सिनेमा और अनुरूपण’ की तीन लेखों की श्रंखला में पहला लेख पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें
The aim of this club is watch films together but not just for entertainment but also to appreciate them in new and interesting ways. Films can be understood in great depth both in terms of their plots and storylines as well as their techniques and making. A discussion on any film can go in multiple directions and our aim is to travel together on this journey and enrich ourselves with different perspectives.

इस क्लब का उद्देश्य है फ़िल्मों के शौकीन लोगों को एक जगह इकट्ठा कर फिल्में देखना पर सिर्फ मनोरंजन के लिए नहीं बल्कि उन्हें और बेहतर और नए-नए तरीकों से समझने और सराहने के लिए। फिल्मों को ना सिर्फ उनकी कहानियों और कथा-वस्तु के परिप्रेक्ष्य में समझा जा सकता है बल्कि उनकी तकनीक और बनाने के तरीकों के मद्देनज़र भी समझा जा सकता है। किसी भी फिल्म पर चलने वाली कोई भी चर्चा अनेक दिशाओं में बढ़ती जा सकती है और हमारा उद्देश्य है इस सफर पर एक साथ चलने का और एक दूसरे के दृष्टिकोण से अपनी समझ को और बेहतर करने का।

For any queries about the film club or to be a member please fill in the form below.